Beware of debit and credit card fraud, hacker use 5 new ways now days

0
229

हर दिन देश में सैकड़ों की तादाद में लोग साइबर क्राइम के शिकार होते हैं. खासकर डेबिट और क्रेडिट कार्ड रखने वाले लोग झांसे में आकर अपनी गाढ़ी कमाई चंद सेकेंड में गवां दे रहे हैं. लगाम लगना तो दूर समय के साथ ठगी को अंजाम देने वाला गिरोह नए-नए तरीके ईजाद कर रहा है क्रेडिट कार्ड से किसी ठग ने इतने रुपये की शॉपिंग कर ली, या फिर किसी के एटीएम कार्ड से पैसे निकाल लिए गए. ऐसे मामलों में पीड़ित के पास पछताने के अलावा कुछ नहीं बचता है. वहीं ठगी को अंजाम देने वाला गिरोह दिनो-दिन हाईटेक होता जा रहा है. हम आपको आज ऐसे ही पांच तरीके बता रहे हैं, जिसके जरिये अक्सर मासूम लोग ठगी के शिकार बन जाते हैं.

1. आजकल कार्ड क्लोनिंग के जरिए ठगी के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. खासकर डेबिट कार्ड (ATM) की क्लोनिंग केस हर रोज सामने आ रहे हैं. दरअसल ATM में पैसे निकालते वक्त क्लोनिंग की घटना को अंजाम दिया जाता है. इसलिए पैसे निकालने समय किसी अनजान व्यक्ति से मदद न लें. साथ ही ATM के अंदर जब आप मौजूद हों, तो किसी दूसरे को घुसने नहीं दें. साथ ही पिन का प्रयोग हाथ से कवर करके करें.

2. आयकर विभाग की आड़ में ठगी को अंजाम देने का नया तरीका सामने आया है. गिरोह की तरफ से लोगों को मोबाइल पर मैसेज भेजा जा रहा है कि आयकर विभाग की ओर से आपका 25,653 रुपये का रिफंड भेजा जा रहा है. इस मैसेज के साथ एक लिंक भेजा जाता है, जिसे भरने के लिए कहा जाता है. अगर कोई झांसे में आकर लिंक पर क्लिक कर उसे भर देता है तो फिर चंद सेकेंड में वो ठगी का शिकार हो जाता है. हाल में ऐसे कई मामले सामने आए हैं, इसलिए इस तरह के मैसेज को ध्यान से पढ़ें और सावधान रहें. क्योंकि आयकर विभाग किसी को इस तरह का मैसेज नहीं भेजता है और ना ही कोई गोपनीय डाटा मांगता है.

3. क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने के नाम पर भी लोगों को चूना लगाया जा रहा है. फर्जी बैंक प्रतिनिधि बनकर लोगों को फोन किया जाता है कि आपके लेन-देन को देखते हुए आपकी क्रेडिट लिमिट बढ़ाई जा रही है. इसके बाद गिरोह की ओर से फोन पर ही कुछ डिटेल भरने के लिए कहा जाता है, और फिर आपके मोबाइल में OTP आता है, जिसे वो आपसे हासिल कर लेता है. ठग को OTP हाथ लगते ही आप ठगी के शिकार हो जाते हैं. क्योंकि चंद सेकेंड के बाद आपको मैसेज आता है कि आपके क्रेडिट कार्ड से इतने रुपये की शॉपिंग कर ली गई है.

4. इसके अलावा हाल के दिनों में शहरों के साथ-साथ गांवों में एटीएम कार्ड बंद होने की बात कहकर ठगी को अंजाम दिया जा रहा है. फर्जी बैंक कर्मचारी बनकर लोगों को फोन किया जाता है कि आपका ATM कार्ड अगले 24 घंटे में बंद हो जाएगा. अगर आप उसे चालू रखना चाहते हैं उसे अभी अपडेट करना होगा और इसमें हम आपकी मदद करेंगे.ATM कार्ड बंद होने की बात सुनकर लोग घबरा जाते हैं और फिर ठगी के शिकार हो जाते हैं. क्योंकि अकाउंट अपडेट के नाम पर ठग पहले गोपनीय डिटेल मांगता है और फिर ट्रांजैक्शन के लिए शातिराना तरीके से OTP भी पूछ लेता है. इसलिए ऐसे फोन कॉल से सावधान रहें, क्योंकि बैंक की ओर से किसी को इस तरह की सूचना फोन पर नहीं दी जाती है.

5. इसके अलावा एक नया तरीका ये भी है कि खुद ठग फोन करके ठगी से बचने उपाय बताता है. ऐसे कॉल में कहा जाता है, ‘सर, ऐसा दिख रहा है कि आपके अकाउंट में संदिग्ध गतिविधियां हो रही हैं. हमने आपको एक ओटीपी भेजा है ताकि आपके खाते को किसी भी धोखे से बचाने के लिए रजिस्टर किया जा सके. आप तुरंत ही अपने खाते का ओटीपी हमारे साथ साझा करें.’ लोग झांसे में आकर बैंक डिटेल और OTP फोन पर बता देते हैं. जिसके बाद अकाउंट खाली हो जाता है.