in

Cannes 2022: मृणाल सेन से दीपिका पादुकोण तक, ये Bollywood हस्तियां रही हैं कान फेस्टिवल जूरी

Cannes 2022: बॉलीवुड की सुपरस्टार एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण हर बार की तरह इस बार के 75वें कान फिल्म फेस्टिवल में शिकरत करने पहुंची. कान फिल्म फेस्टिवल 2022 में दीपिका ने इस बार बतौर जूरी सदस्य एंट्री ली. इसके साथ ही दीपिका का नाम बॉलीवुड की उन तमाम मशहूर अदाकाराओं के साथ शामिल हो गया, जिन्होंने इस इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में बतौर जूरी मेंबर्स हिस्सा लिया हो. इस लेख के जरिए हम आपको बताएंगे की दीपिका से पहले वे कौन-कौन हिंदी सिनेमा की हस्तियां हैं, जो कान फिल्म फेस्टिवल में जूरी के रूप में नजर आ चुकी हैं. 

ये चुनिंदा हस्तियां कान के इतिहास में बनीं जूरी मेंबर्स

कान फेस्टिवल में बतौर जूरी  शिरकत करने वाली सबसे पहली भारतीय हस्ती दिवंगत फिल्म निर्माता मृणाल सेन रहे. साल 1982 के दौरान मृणाल पहले भारतीय शख्सियत रहे, जिन्होंने कान फिल्म फेस्टिवल में जूरी मेबर्स के पद पर अपनी सेवाएं दी. मृणाल से शुरु हुआ ये कांरवा आगे बढ़ता चला गया. जिसमें सन 1990 के समय के कान फिल्म फेस्टिवल में हिंदी फिल्म सलाम बॉम्बे की डायरेक्टर मीरा नायर जूरी सदस्य रहीं.  इसके अलावा साल 2000 में लेखक अरुंधति रॉय, और 2003 में बॉलीवुड सुपरस्टार्स एक्ट्रेस और पूर्व मिस वर्ल्ड ऐश्वर्या राय बच्चन का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है. 

तो वहीं 2005 के कान फिल्म फेस्टिवल में डायरेक्टर नंदिता दास के साथ-साथ सदी की सबसे बड़ी अदाकारा शर्मिला टैगौर सन 2009 में बतौर कान जूरी अपना नाम रोशन करा चुकी है. इस बीच इस लिस्ट में एक मेल कलाकार शेखर कपूर हैं, जो 2010 के कान फिल्म फेस्टिवल में जूरी रहे. इस सूची में अगला नाम हिंदी फिल्म इंडस्ट्री की दमदार एक्ट्रेस विद्या वालन का नाम आता है, जिन्होंने 2013 के कान फिल्म फेस्टिवल में बतौर जूरी जलवा बिखेरा था.  इस तरह दीपिका पादुकोण ने अपना नाम इन चुंनिदा अभिनेत्रियों की लिस्ट में दर्ज कराया है. बता दें कि दीपिका साल 2017 से लगातार कान फिल्म फेस्टिवल में शामिल हो रही हैं.  

Panchayat 2: फुलेरा पंचायत की रिंकी का रॉकिंग अंदाज देख आप भी रह जाएंगे दंग

Prithviraj से लेकर Padmavat तक, करणी सेना के निशाने पर आईं बॉलीवुड की ये ब्लॉकबस्टर फिल्में

What do you think?

Written by

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Rajiv Kapoor Movies: ‘एक जान हैं हम’ से ‘तुलसीदास जूनियर’ तक, राजीव कपूर के सिनेमा सफर का जश्न!

Rashmika Mandanna Success Story: कैसे कुछ सालों में ही करोड़ों दिलों की धड़कन बन गईं नेशनल क्रश रश्मिका मंदाना