in

Dhaakad: धाकड़ के पीटने पर ऋचा चड्ढा ने जश्न मनाने वालों का दिया साथ, कंगना को याद दिलाया बयान

Dhaakad: कंगना रनौत की फिल्म भले ही बूरी तरीके से पीट गई हो पर उनके चर्चे हर जगह सूपर हिट साबित होते हैं. आए दिन कंगना किसी ना किसी विवादीत बयान को लेकर चर्चा में बनीं रहती हैं. इस बार उन्होंने नहीं बल्कि धाकड़ की असफलता को लेकर किसी और ने बयान दिया है. जी हां, अब एक नया मामला सामने आया है. दरअसल दूसरे एक्टर्स और फिल्ममेकर की फिल्मों पर तंज कसने वाली कंगना की फिल्म धाकड़ के फ्लॉप होने का उनके विरोधी जश्न मना रहे हैं. इस पर बाॅलीवुड एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा ने भी रिएक्शन दिया है.

बिग बॉस की कंटेस्टेंट रह चुके तहसीन पूनावाला कंगना रनौत के समर्थन में उतरें और धाकड़ फिल्म के फ्लॉप होने पर खुशी मनाते हुए कुछ ट्वीट्स को रिशेयर कर लिखा फिल्म धाकड़ के लिए कंगना रनौत को ट्रोल किया जाना ठीक नहीं है. हम में से बहुत से लोग कंगना से सहमत या असहमत हो सकते हैं लेकिन इस बात से इनकार नहीं कर सकते कि वह आज सिनेमा जगत की बेस्ट एक्ट्रेसेस में एक हैं और वह काम को लेकर रिस्क लेना जानती हैं.

ऐसे शुरू हुआ मामला
वहीं, फिल्म धाकड़ को लेकर एक जर्नलिस्ट ने लिखा कि ये हास्यास्पद है. दर्शकों को फिल्म पसंद नहीं आई तो उन्होंने इसे रिजेक्ट कर दिया है, जिसके शो शून्य में जा रहे हैं. सच कहना ट्रोलिंग है सच में. इस पर बिग बाॅस की कंटेस्टेंट नेे लिखा नहीं किसी फिल्म के फ्लॉप होने पर  जश्न मनाना अच्छाा नहीं है. वहीं, इस पर एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा ने अपना रिएक्शन दिया कि सत्ता के साथ तालमेल बिठाना आसान है और इसमें आपको टैक्स में छूट, पुरस्कार, विशेष दर्जा, सुरक्षा तो मिलती ही है. तो क्या आप नहीं जानते तहसीन कि कई बार उल्टा भी हो जाता है. लोग किसी भी तरह से अपना विरोध दर्ज करवा रहे हैं. तो चिल करिए.

तब तहसीन ने लिखा कि मैं चिल हूं. मैंने इस फिल्म को कंगना रनौत के बुलावे के बावजुद देखी नहीं है.मैं फिल्म बिजनेस के लिए खड़ा रहूंगा. किसी भी फिल्म के फ्लॉप को लेकर फिल्म को लेकर खुश नहीं होना चाहिए क्योंकि इससे इंडस्ट्री को नुकसान होता है. अगर सरकार गलत करती हैं, तो इसका मतलब ये नहीं है कि हमें भी करना चाहिए. इस पर ऋचा ने खुश नहीं होना चाहिए. 

पहले के रिप्लाई को किया री रिप्लाई
इसके बाद ऋचा ने कहा, पिछले कुछ साल में ड्रग्स मामले के विवाद को लेकर बॉलीवुड की आलोचना करने वालों में कंगना सबसे आगे रही हैं। यहां तक कि कंगना ने इंडस्ट्री को गटर तक कह दिया था। उन्होंने बहुत ही व्यवस्थित तरीके से एक कहानी बुनी कि मुंबई में फिल्म इंडस्ट्री सभी खामियों का अड्डा है। यहां के लोग हत्यारे हैं, वगैरह। इस फेक नैरेटिव में कई लोगों ने हिस्सा लिया। अब कुछ लोग अन्य लोगों की असफलता का जश्न मना रहे हैं। हालांकि ऋचा ने यह भी लिखा, फिल्म की असफलता का जश्न नहीं मनाना चाहिए। नैतिक रूप से यह गलत है। इसलिए भी क्योंकि एक फिल्म में हजारों लोग काम करते हैं। ऐसा होता है।

मात्र 3.53 का हुआ अब तक कलेक्शन
आपको बतादें कि कंगना की फिल्म धाकड़ बाॅक्स ऑफिस पर बूरी तरह पीट चुकी है. बाॅक्स ऑफिस कलेक्शन की बात करें तो यह सबसे पीछे चल रही है. सोमवार को इसका कलेक्शन मात्र 30 लाख का ही रहा. वहीं फिल्म ने रिलीज के बाद से अब तक 3.53 करोड़ रूपए का कलेक्शन किया है.

What do you think?

Written by

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर में 3 घंटों के भीतर दूसरा हमला, एक पुलिसकर्मी शहीद, 3 लोग जख्मी

Delhi में शुरू हुआ देश का पहला नेशनल रिसोर्स सेंटर फॉर ओरल हेल्थ एंड टोबैको सिसेशन, लोगों को किया जायेगा जागरूक