in

Russia Ukraine War Live: खार्किव में कई धमाकों की आवाज सुनी गईं। निवासियों को पास के आश्रयों में जाने के लिए कहा गया है: कीव इंडिपेंडेंट के हवाले से

Russia-Ukraine War: यूक्रेन पर रूसी सेना के हमलों का आज दसवां दिन है. कल जंग के नौंवे दिन की शुरुआत एक ऐसी खबर से हुई, जिससे पूरी दुनिया दहल गई. खबर आई कि यूक्रेन के सबसे बड़े परमाणु संयंत्र पर रूसी सेनाओं ने कब्जा कर लिया है. वहीं, बार-बार दावा किया जा रहा है कि, रूस राष्ट्रपति व्लादिमीर जेलेंस्की की हत्या करने की कोशिश कर रहा है. अब यूक्रेन के राष्ट्रपति आवास पर एक रॉकेट का टुकड़ा गिरा हुआ मिला है. जिसे यूक्रेन राष्ट्रपति पर किया गया हमला बता रहा है. 

खुद राष्ट्रपति व्लादिमीर जेलेंस्की ने अपने आवास के बाहर गिरे इस रॉकेट को लेकर टिप्पणी की है. उन्होंने कहा है कि, इसका निशाना चूक गया… यानी एक बार फिर जेलेंस्की ने ये बताया है कि उन्हें मारने की कोशिश की गई है. इससे पहले भी एक रिपोर्ट में बताया गया था कि, जेलेंस्की को तीन बार मारने की कोशिश की गई थी. लेकिन वो हर बार किसी तरह बच गए. 

रूस का दावा जेलेंस्की ने छोड़ा देश

एक तरफ जहां यूक्रेन के राष्ट्रपति आवास के बाहर रॉकेट गिरा है, वहीं रूस की तरफ से दावा किया जा रहा है कि यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की देश छोड़कर निकल चुके हैं. रूस के सरकारी मीडिया हाउस स्पूतनिक ने ये दावा किया है. इसमें बताया गया है कि यूक्रेन के राष्ट्रपति ने पोलैंड में शरण ली है. हालांकि यूक्रेन की तरफ से इस दावे को खारिज किया गया है. यूक्रेन ने कहा है कि जेलेंस्की ने देश नहीं छोड़ा है और वो अब भी यूक्रेन में ही हैं. 

न्यूक्लियर प्लांट पर रूसी सेनाओं ने धावा बोला

बता दें, बीते दिन यूरोप का सबसे बड़ा परमाणु संयंत्र जैपोरिजिया न्यूक्लियर प्लांट यूक्रेन के एनर्होदार शहर में है. जंग के नौंवे दिन इस न्यूक्लियर प्लांट पर रूसी सेनाओं ने धावा बोला. इस हमले के बाद प्लांट के एक हिस्से में आग लग गई, जिससे पूरी दुनिया कई घंटों तक परमाणु खतरे के साए में आ गई. ये खतरा इतना बड़ा था कि यूक्रेन के राष्ट्रपति को खुद अलार्म बजाना पड़ा.

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग में ये दूसरा मौका था, जब दुनिया पर परमाणु संकट खड़ा हुआ. इससे पहले जब रूसी सेनाओं ने चर्नोबिल में हमला बोला, तब भी परमाणु खतरे के बादल छाने लगे थे, लेकिन जैपोरिजिया पर हमले से पैदा हुआ खतरा, चर्नोबिल के मुकाबले 6 गुना ज्यादा था और ये पूरे यूरोप को खत्म करने की ताकत रखता था.

धमाका होता तो मिट जाता यूरोप!

रूस के हमले में जैपोरेजिया प्लांट के जिस हिस्से में आग लगी वो ट्रेनिंग वाला इलाका था. कुछ ही घंटों में इस आग पर काबू भी पा लिया गया, लेकिन इस दौरान ऐसी दहशत फैली कि दुनिया के सभी देश अलर्ट मोड में आ गए. फौरन रेडिएशन लीक की जांच हुई और फिर अंतरराष्ट्रीय एटॉमिक एनर्जी की ओर से बयान जारी करना पड़ा.

यह भी पढ़ें.

Russia-Ukraine War: UN में यूक्रेन-रूस जंग की स्वतंत्र आयोग से जांच कराने वाली वोटिंग से भारत ने खुद को किया अलग

Russia Ukraine War: रूस की तरफ से किया गया बड़ा दावा – यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने छोड़ा देश, पड़ोसी मुल्क में ली शरण

What do you think?

Written by

Leave a Reply

Your email address will not be published.

तेलंगाना में बेटे के लिए 1400 किलोमीटर स्कूटी चलाने वाली रजिया बेगम का बेटा यूक्रेन में फंसा

Russia-Ukraine War: ‘परमाणु कैपिटल’ यूक्रेन में जंग कितनी खतरनाक है, पुतिन क्यों दे रहे हैं परमाणु धमकी? जानिए सबकुछ